अशोक बाबू माहौर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अशोक बाबू माहौर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 28 मार्च 2017

आई सुनहरी सुबह : अशोक बाबू माहौर




 मध्य प्रदेश के मुरैना जिला में 10 जनवरी 1985 को जन्में अशोक बाबू माहौर का इधर रचनाकर्म लगातार जारी है। अब तक इनकी रचनाएं रचनाकार, स्वर्गविभा, हिन्दीकुंज, अनहद कृति आदि में प्रकाशित हो चुकी हैं।
  ई.पत्रिका अनहद कृति की तरफ से विशेष मान्यता सम्मान 2014.2015 से अलंकृति ।

आई सुनहरी सुबह

सुनहरी सुबह 
आई लेकर खुशियाँ
झूम उठी पुरवाई 
मस्तमौला डालियाँ 
पेड़ों की,
खेल उठी आँगन में 
बिटिया नन्हीं प्यारी 
मुस्काती

लताएँ लहराकर 
मगन 
चढ़ जाती 
पाती मंजिल
उधर ख़ामोशी साधे
तितली रंगीली 
आज वह भी 
फुदकती इधर उधर 
फूलों पर 
गुमराह सी खोई खोई

संपर्क- 
ग्राम-कदमन का पुरा
तहसील-अम्बाह,जिला-मुरैना (मध्य प्रदेश) 476111 
मो-09584414669 

सोमवार, 21 नवंबर 2016

हाइकु : अशोक बाबू माहौर



   मध्य प्रदेश के मुरैना जिला में 10 जनवरी 1985 को जन्में अशोक बाबू माहौर का इधर रचनाकर्म लगातार जारी है। अब तक इनकी रचनाएं रचनाकार, स्वर्गविभा, हिन्दीकुंज, अनहद कृति आदि में प्रकाशित हो चुकी हैं।
  ई.पत्रिका अनहद कृति की तरफ से विशेष मान्यता सम्मान 2014.2015 से अलंकृति ।

 
हाइकु

खुली किताब 
कलम इठलाती 
करती बक।

भिखारी रोता
देखते सब लोग 
निराले होते ।

चौंच दबाये 
बैठीं सब लताएँ
खामोश धीमी।

आकाश टेड़ा
लोग मुँह दबाये 
नाचती दूब ।


संपर्क- 
ग्राम-कदमन का पुरा
तहसील-अम्बाह,जिला-मुरैना (मध्य प्रदेश) 476111 
मो-09584414669 

शनिवार, 7 मई 2016

अशोक बाबू माहौर की कविता : रवि आ



     मध्य प्रदेश के मुरैना जिला में 10 जनवरी 1985 को जन्में अशोक बाबू माहौर का इधर रचनाकर्म लगातार जारी है। अब तक इनकी रचनाएं रचनाकार, स्वर्गविभा, हिन्दीकुंज, अनहद कृति आदि में प्रकाशित हो चुकी हैं।


  ई.पत्रिका अनहद कृति की तरफ से विशेष मान्यता सम्मान 2014.2015 से अलंकृति ।प्रस्तुत है इनकी एक कविता
रवि आ 
 
अशोक बाबू माहौर की कविता
 
रवि आ 

रवि आ 
मेरे आँगन में 
धूप सुनहरी लेकर,
बच्ची मेरी 
जिद्दी 
रूठकर बहा रही आँसू
खड़ी,
उसे हँसा खिलखिला 
मासूम चेहरा 
नाजुक 
जगा उस पर 
सुबह की 
रेशमी किरणों से 
मुस्कान मधु
न मुझसे 
बात करती वह 
खींजती आँखें लाल कर 
नन्हा अँगूठा दिखाकर 
मैं चुप 
निहारता रहता 
हरकत 
प्यारी प्यारी
 
उफ़ ! मुझे 
धक्का देकर 
बुलाती तुम्हें
साथ खेलने 
बनाने मिटटी के 
गोंदे,खिलोने 
अजीब से 
अनोखे 
नाना तरह के

संपर्क- 
ग्राम-कदमन का पुरा
तहसील-अम्बाह,जिला-मुरैना (मध्य प्रदेश) 476111 
मो-09584414669 

रविवार, 7 फ़रवरी 2016

अशोक बाबू माहौर की कविता : धूप हथेली पर



    मध्य प्रदेश के मुरैना जिला में 10 जनवरी 1985 को जन्में अशोक बाबू माहौर का इधर रचनाकर्म लगातार जारी है। अब तक इनकी रचनाएं रचनाकार, स्वर्गविभा, हिन्दीकुंज, अनहद कृति आदि में प्रकाशित हो चुकी हैं।


  ई.पत्रिका अनहद कृति की तरफ से विशेष मान्यता सम्मान 2014.2015 से अलंकृति ।प्रस्तुत है इनकी एक कविता धूप हथेली पर

अशोक बाबू माहौर की कविता

  


















धूप हथेली पर 

धूप को समेटे 
हथेली पर 
बैठी है 
लाडली बिटिया 
मुस्कुराती,
पथ भी 
निगाहें भर 
उसे देखते 
हरी निर्मल घास भी
शब्द मंथन करती 
अंदर 
मन ही मन 
शायद समझ बैठी है 
खुद को 
अलौकिक शक्तियाँ,
तभी 
धूप को 
मसलती है 
चुटकियों में 
और सजाकर खेलती है 
खेल अनौखे

                       
संपर्क- 
ग्राम-कदमन का पुरा
तहसील-अम्बाह,जिला-मुरैना (मध्य प्रदेश) 476111 
मो-09584414669 

शुक्रवार, 13 नवंबर 2015

किसे मानूँ : अशोक बाबू माहौर





     मध्य प्रदेश के मुरैना जिला में 10 जनवरी 1985 को जन्में अशोक बाबू माहौर का इधर रचनाकर्म लगातार जारी है। अब तक इनकी रचनाएं रचनाकार, स्वर्गविभा, हिन्दीकुंज, अनहद कृति आदि में प्रकाशित हो चुकी हैं।

     ई.पत्रिका अनहद कृति की तरफ से विशेष मान्यता सम्मान 2014.2015 से अलंकृति । प्रस्तुत है इनकी एक कविता किसे मानूँ


अशोक बाबू माहौर की कविता

किसे मानूँ

खड़े होकर 
चलना 
कब सीखा 
कब गिरना,फिसलना 
किसने उंगली थामी थीं
मेरी नन्ही 
किसने रुलाया 
मुझे 
किसने हँसाया,

पूछता हूँ 
खुद से 
रात में 
घनेरी रात में

आसमान नीला 
सूरज चमकता 
किसने कहा था 
मुझसे 
ये हैं चंदा मामा
लोरियाँ सुनाकर
सुलाया किसने 
किसने बालों को सँवारा,

पूछता हूँ 
खुद से 
रात में 
घनेरी रात में

टूटकर विखरने से पहले 
संभाला था मुझे 
पाठ पढ़ाया था 
जीवन का 
किसे मानूँ 
सहारा अपना 
ईश या माता 
या पिता को 
या सहयोग सबका,

पूछता हूँ 
खुद से 
रात में 
घनेरी रात में 
                   
संपर्क-
     कदमन का पुरा,तहसील-अम्बाह,
     जिला-मुरैना (मध्य प्रदेश) 476111 
      मो-09584414669 
      ईमेल-ashokbabu.mahour@gmail.com